-->

Increase in 7th pay commission minimum pay and fitment factor

GOVERNMENT OF INDIA
MINISTRY OF FINANCE
RAJYA SABHA
QUESTION NO 1170
ANSWERED ON 06.03.2018

Increase in minimum pay and fitment factor
1170 Shri Neeraj Shekhar

Will the Minister of FINANCE be pleased to state :-

(a) whether Government is actively contemplating to increase minimum pay from Rs.18,000/- to Rs.21,000/- and fitment factor from 2.57 to 3, in view of resentment among Central Government employees over historically lowest increase in pay by 7th Central Pay Commission (CPC);

(b) if so, the details thereof and the date from which it would be implemented; and

(c ) if not, the reasons for the callous attitude of Government towards Government Employees?

ANSWER

MINISTER OF STATE FOR FINANCE
( SHRI P RADHAKRISHNAN )

(a),(b)&(c ): The minimum pay of Rs.18,000/- p.m. and fitment factor of 2.57 are based on the specific recommendations of the 7th Central Pay Commission in the light of the relevant factors taken into account by it. Therefore, no change therein is at present under consideration.

Hindi Version

भारत सरकार
वित्त मंत्रालय
व्‍यय विभाग
राज्य सभा

अतारांकित प्रश्‍न संख्‍या – 1170
मंगलवार, 06 मार्च, 2018/15 फाल्‍गुन, 1939 (शक)

न्‍यूनतम वेतन और फिटमेंट फैक्‍टर में वृद्धि
1170. श्री नीरज शेखर:

क्‍या वित्त मंत्री यह बताने की कृपा करेंगे कि:

(क) क्‍या सरकार केन्‍द्र सरकार के कर्मचारियों की नाराजगी और सातवें केन्‍द्रीय वेतन आयोग द्वारा वेतन में अब तक की सबसे कम वृद्धि किए जाने को ध्‍यान में रखते हुए न्‍यूनतम वेतन को 18000/- रुपए से बढ़ाकर 21000/- रुपए करने और फिटमेंट फैक्‍टर को 2.57 से बढ़ाकर 3 करने पर सक्रियता से विचार कर रही है;

(ख) यदि हां, तो तत्‍संबंधी ब्‍यौरा क्‍या है और यह किस तारीख से लागू होगा; और

(ग) यदि नहीं, तो सरकारी कर्मचारियों के प्रति सरकार के उदासीन रवैये के क्‍या कारण हैं?

उत्तर
वित्त मंत्रालय में राज्य मंत्री (श्री पी. राधाकृष्‍णन)

(क), (ख) और (ग): 18000/- रुपए प्रति माह का न्‍यूनतम वेतन और 2.57 का फिटमेंट गुणांक 7वें केन्‍द्रीय वेतन आयोग द्वारा संगत कारकों को ध्‍यान में रखते हुए की गई विशिष्‍ट सिफारिशों पर आधारित हैं। इसलिए, इस समय इसमें किसी परिवर्तन पर विचार नहीं किया जा रहा है।

Source:Loksabha

Related Posts

Post a Comment

Subscribe Our Newsletter